bewafa shayari 49

Bewafa Shayari in Hindi {100+} Download For Whatsapp Fb

 

 

 

 

 

 

वो जिनमें चमकते थे वफा के मोती, 

यकीन मानो वो आँखें ही बेवफा निकलीं !

bewafa shayari 42


चाहत हुई किसी से तो फिर बे-इन्तेहाँ हुई, 

चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गये,

हमने खुदा से कुछ भी ना मांगा मगर उसे, 

माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये !

bewafa shayari 43


आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए, 

एहसास हुआ तब जब वो जुदा हुए,

करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके, 

लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

bewafa shayari 44


सिर्फ चहरे की उदासी देखकर ही निकल आये थे,

उसके आंसू, दिल का आलम तो अभी उसने देखा ही नहीं था !

bewafa shayari 45


उसने देखा ही नहीं था कभी अपनी हथेली को गोर से,

उसमें धुंदली सी एक लकीर मेरे नाम की भी थी !

bewafa shayari 46